LATEST:


मंगलवार, जनवरी 12

नववर्ष का पहला त्यौहार लोहड़ी





Click Here
Free Comments Graphics 
 अभी,अभी साल 2009 समय की गर्त में चला गया था,और नववर्ष का जन्म हुआ था,यह तो था,अंग्रेजी कलेंडर के हिसाब से था, परन्तु हिंदी कलेंडर के अनुसार साल लोहड़ी से नववर्ष का आगमन हुआ है, चारो ओर ढोल की आवाजें,अग्नि जला कर उसमें पोपकोर्न,मूंगफलियाँ,रेवरी डालना और और भेंट स्वरुप उपहार के तोर पर देना,सब और खुशियों का वातावरण, मेरी तो कामना है,इस प्रकार का वातावरण हर वर्ष रहें,और इस लोहड़ी के पर्व पर उलास्सित हो कर यह कहना

Click Here
Free Comments Graphics
 सहसा एक रोमांच पैदा कर देता है, और हो जाता है,ढोल की थाप पर भंगरा और गिद्दा,सहसा पैर अपने,आप थिरकने लगतें हैं ,चारो और मस्ती ही मस्ती,खेतों में सरसों की फसल खड़ी हो जाती है |
अभी तो नाचते,गाते रात बीत गयी थी,और जब आंख खुलती है,तो होती है मकर संक्रांति

Friends18.com Orkut MySpace Hi5 Scrap Images
Friends18.com Makar-Sankranti Greetings
मतलब की पवित्र घाटों में विशेषकर गंगा के घाटों में,स्नान करने का दिन,लोहड़ी तो आरम्भ हुई थी पंजाब से और  नीचे चल कर आ गयें उत्तर परदेश,जहाँ पर मकर संक्रांति का विशेष महत्व है,स्नान,ध्यान,जप दान का दिन ,पंजाब के बाद उत्तर परदेश का विशेष दिन मकर संक्रांति |
और नीचे चलते हैं तो आ जाता है,केरल में ओणम का पर्व,जो कि लोहड़ी वाले दिन ही होता है 



More Onam sms and Glitters
More Onam Glitters & Messages

इस ओणम के पर्व पर,केरल के समुन्दर के पानी में,एक साथ नावों पर चलते हुए,एक समां सा बांध देते हैं, केरल में इस दिन होती है,नौका दोड,और एक साथ पानी में चलते हुए चप्पू,इस परतिस्पर्धा में दोड में,आगे निकलना एक नया सा आनंद देता है|
यह है,हमारे भारत का अनेकता में एकता का प्रमाण, हम लोग भी इस अनेकता में एकता का स्वरुप दिखाएँ,कश्मीर से लेकर कनाय्कुमारी तक
सब भाई,बहनों,माताओं,पिताओं,बेटे,बेटियों को लोहड़ी,मकर संक्रांति,ओणम की शुभकामनायें |
इन्ही त्योहारों के सामान सब मिल जुल कर रहें

6 टिप्‍पणियां:

हरकीरत ' हीर' ने कहा…

सुंदर ......!!

उम्मीद है आपसे .....!!

Udan Tashtari ने कहा…

बढ़िया पोस्ट...पर्वों की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत सुंदर, हम बचपन मै लोहडी मांगने जाते थे, अजी दो चार दिन पहले ही चले जाते थे, बहुत सी यादे जुडी है अपने मन मोहक त्योहारो से, आप का धन्यवाद यह सब यद दिलाने के लिये

alka sarwat ने कहा…

sachmuch bada rangiin tyohar hai ye aur agle din khichdi ,us khichdi ka swad to saal bhar yaad rahta hai

shama ने कहा…

Padhte,padhte laga jaise tyohaar aankhon ke aage man raha ho!

Sansmaran pe mai khaas apke khatir likhti hun! Aap padhte hain to bada achha lagta hai...Bahut saare kaash jeevan me rah jate hain, unmese beejee kee bhi baten!

vinay ने कहा…

शमा जी आपको मेरे लिये खास लिखने के लिये तहदिल से धन्यवाद ।

लेबल

अभी तो एक प्रश्न चिन्ह ही छोड़ा है ? (1) आत्मा अंश जीव अविनाशी (1) इन्ही त्योहारों के सामान सब मिल जुल कर रहें (1) इश्वर से इस वर्ष की प्रार्थना (1) इसके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ | (1) उस अविनाशी ईश्वर का स्वरुप है | (1) एक आशियाना जिन्दगी का (1) कब बदलोगे अपनी सोच समाज के लोगों ? (1) कहाँ गया विश्व बंधुत्व और सदभावना? (1) कहीं इस कन्या का विवाहित जीवन अंधकार मय ना हो | (1) किसी का अन्तकरण भी बदला जा सकता है (1) किसी की बात सुन कर उसको भावनात्मक सुख दिया जा सकता है | (1) कैसे होगा इस समस्या का समाधान? (1) चाहता हूँ इसके बाद वोह स्वस्थ रहे और ऑपेरशन की अवयाक्ष्ता ना पड़े | (1) जय गुरु देव की (1) जीत लो किसी का भी हिर्दय स्नेह और अपनेपन (1) डाक्टर साहब का समर्पण (1) पड़ोसियों ने साथ दिया (1) बच्चो में किसी प्रकार का फोविया ना होने दें (1) बस अंत मे यही कहूँगा परहित सम सुख नहीं | (1) बुरा ना मानो होली है | (1) मानवता को समर्पित एक लेख (1) मित्रों प्रेम कोई वासना नहीं है (1) में तो यही कहता हूँ (1) यह एक उपासना है । (1) राधे (2) राधे | (2) वाह प्रभु तेरी विचत्र लीला (1) वोह ना जाने कहाँ गयी (1) शमादान भी एक प्रकार का दान है | (1) सब का नववर्ष सब प्रकार की खुशियाँ देने वाला हो | (1) समांहुयिक प्रार्थना मैं बहुत बल है | (1)